अंतर्राष्ट्रीय प्रकाश वर्ष – 2015

 

इघर-उघर सर्वत्र प्रकाश ही प्रकाश।
प्रकाश से हम सब , प्रकाश से विकास।।
सचमुच प्रकाश पुंज है हमारी आत्मा।
जुड़ा है जिससे भगवान – परमात्मा।।
मसाल लो आगे बढ़ो, ज्योति जलाओ।
अंतराष्ट्रीय प्रकाश वर्ष 2015 मनाओ।।  

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने किया आव्हान।
2015 को प्रकाश वर्ष मनाओ, करो कल्याण।।
क्योंकि प्रकाश से पेड़ पौधे और पशुधन।
जीव जन्तु इससे जुड़ा है मानव का जीवन।।
गांवों-नगरों में, घर-घर में खुशियां लाओ।
अंतराष्ट्रीय प्रकाश वर्ष 2015 मनाओ।।

प्रकाश से दूर अंधकार, बनते उर्जावान।
प्रकाश संशलेषण से फसलों में नई जान।।
वंदनीय है ज्योती और दीप प्रज्वलन।
प्रकाश से नियमित दिनचर्या, समृद्व जीवन।।
रोको मत प्रकाश को चहुंओर प्रकाश फैलाओ।
अंतराष्ट्रीय प्रकाश वर्ष 2015 मनाओ।।

प्रेरक देववाणी है – तमसो मा ज्योतिर्गमया।
मिट जायेगा प्रकाश से अंघकार का भय।।
लोक-परलोक से जुड़ो, जोड़ो, जुड़़ते जाओ।
देश – विदेश में सफलता का परचम लहराओ।।
घर-घर में शिक्षा का अलक्ष जगओ।
अंतराष्ट्रीय प्रकाश वर्ष 2015 मनाओ।।

          डाॅं. भागचन्द्र जैन प्राध्यापक (कृषि अर्थशास्त्र)

          कृषि महाविद्यालय, रायपुर (छ.ग.) 492012

                   

A

Dr. BhagChandra Jain is renowned author & famous scientist in field of Agriculture. Awarded by Central & State government ,Mr. Bhag is author of more than 1700+ articles published in various international journals,magazines & books.

Currently ,Dr. Jain is working as Professor in Indira Gandhi Agricultural University .

Comments

comments