जल वर्ष-2016

प्रो. (डॉ.) भागचंद्र जैन

शास्त्रों में लिखी है जल की महिमा |
सागर और नदियों से है हरीतिमा ||
जल से जीवन, जल से है संसार |
जल के बिना, सूना है सब संसार ||

पानी है सचमुच, प्रकृति का वरदान |
पानी से पेड़-पौधे, पनी से इन्सान ||
अतः जल की कीमत को पहचानों |
बूंद.बूंद कितनी अमूल्य, यह जानो ||

जल का संरक्षण हमारा कर्म है |
जल का संरक्षण हमारा धर्म है ||
प्रयत्न करो, असंभव को संभव बनाओ |
मेहनत करो, कठौती में गंगा लाओ ||

पर्यावरण सुधारो, वृक्ष लगाओ |
जल के चक्र को उचित बनाओ ||
पानी से सब कुछ, पानी से जिंदगानी |
बूंद.बूंद बचाओ, गढ़ो नई कहानी ||

जल की रक्षा के लिये कीजिये प्रयास |
जिससे बुझे, पेड़-पौधों, जीवों की प्यास ||
सुखा-बाढ़, तूफान मान जायेगा हार |
जल वर्ष-2016 को सार्थक बनाओ ||

प्रचार अधिकारी
इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय, कृषि महाविद्यालय,
रायपुर 492006 (छत्तीसगढ़)

Dr. BhagChandra Jain is renowned author & famous scientist in field of Agriculture. Awarded by Central & State government ,Mr. Bhag is author of more than 1700+ articles published in various international journals,magazines & books.

Currently ,Dr. Jain is working as Professor in Indira Gandhi Agricultural University .

Comments

comments